Experts Are Recommending To Immediately Change Toothbrush After Recovering From Coronavirus Disease – सावधान: कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद टूथब्रश बदलना जरूरी, जानें विशेषज्ञ क्यों दे रहे ऐसी सलाह


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: प्रियंका तिवारी
Updated Fri, 07 May 2021 11:01 AM IST

सार

दंत चिकित्सकों का कहना है कि लोगों का टूथब्रश न केवल उन्हें दोबारा संक्रमित कर सकता है बल्कि उनके परिवार वालों को भी इससे नुकसान हो सकता है क्योंकि ज्यादातर लोग कॉमन वॉशरूम का इस्तेमाल करते हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : Pixabay

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

भारत में कोरोना वायरस खतरनाक तरीके से फैल रहा है और अब यह बात अच्छी तरह से साफ है कि एक बार इस बीमारी से ठीक हुआ शख्स दोबारा इसकी चपेट में आ सकता है। हालांकि, कोविड-19 से बचाव में इसके टीके प्रभावी साबित हुए हैं, लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना के टीके हर समय सभी स्थितियों में 100 प्रतिशत सुरक्षा की गारंटी नहीं दे सकते हैं। ऐसे में हमें खुद ही ध्यान देना होगा कि एक बार कोरोना से ठीक होने के बाद हम या हमारे अपने दोबारा इससे संक्रमित न हो जाएं। हमें अपने आसपास मौजूद हर छोटी-बड़ी और चीजों पर ध्यान देकर उन्हें बदल देना चाहिए ताकि हमें कोरोना संक्रमण दोबारा अपनी गिरफ्त में न ले ले। इन दिनों विशेषज्ञ सलाह दे रहे हैं कि लोगों को संक्रमण से ठीक होने के बाद सबसे पहले अपना टूथब्रश बदल देना चाहिए। ऐसा न करने से दोबारा संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। 

कॉमन वॉशरूम के कारण खतरा अधिक

दरअसल, देश में कई ऐसे व्यक्ति दोबारा संक्रमित हो गए जो पूर्व में भी हो चुके थे या फिर कोरोना का वैक्सीन ले चुके हैं। ऐसे में जहां देश में तीसरे लहर की बात भी चल रही है तो लोगों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। दंत चिकित्सकों का कहना है कि लोगों का टूथब्रश न केवल उन्हें दोबारा संक्रमित कर सकता है बल्कि उनके परिवार वालों को भी इससे नुकसान हो सकता है क्योंकि ज्यादातर लोग कॉमन वॉशरूम का इस्तेमाल करते हैं।

जीभ क्लीनर भी बदलें 

एक समाचार पत्र में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली के एचओडी डेंटल सर्जरी, डॉ. प्रवीण मेहरा का कहना है कि केवल टूथब्रश ही नहीं जीभ क्लीनर आदि को भी हमें बदल लेना चाहिए। वहीं, आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की कंसल्टेंट (डेंटल) डॉ. भूमिका मदान ने कहा कि किसी भी तरह के मौसमी फ्लू, खांसी व सर्दी से उबर चुके लोगों को टूथब्रश और जीभ क्लीनर बदल लेना चाहिए। ऐसा करने से दोबारा संक्रमण का खतरा कम हो जाता है। डॉक्टरों का कहना है कि बाथरूम में रखे हर उस सामान को बदल देना चाहिए, जिससे संक्रमण का खतरा हो सकता है।

मुंह की सफाई के लिए गर्म पानी से गरारे जरूरी

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, वायरस की छोटी बूंदें संक्रमित व्यक्ति के मुंह से खांसी, छींक आदि के माध्यम से निकलकर आसपास की सतहों को दूषित कर देती है। इसे लेकर डॉ. भूमिका मदान ने कहा कि हमें लक्षण मिलने के 20 दिनों के बाद अपने टूथब्रश व जीभ क्लीनर को बदलना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुंह में छिपे वायरस या बैक्टीरिया को खत्म करने का सबसे अच्छा उपाय है गर्म पानी के साथ नमक की कुछ मात्रा मिलाकर कुल्ला करना। इसके लिए कई प्रकार के माउथवॉश और बीटाडीन गार्गल भी मार्केट में उपलब्ध हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *