Government Develops Online Game To Counter Cyber Crimes Against Children No | ‘ब्लू व्हेल’ और ‘मोमो चैलेंज’ से बच्चों को बचाने के लिए सरकार ने बनाया ‘ऑनलाइन गेम’


'ब्लू व्हेल' और 'मोमो चैलेंज' से बच्चों को बचाने के लिए सरकार ने बनाया 'ऑनलाइन गेम'



सरकार ने ‘ब्लू व्हेल’ और ‘मोमो’ चैलेंज जैसे खतरनाक खेलों के कारण बच्चों के खिलाफ साइबर अपराधों की घटनाओं का सामना करने के लिए एक गेम एप्लिकेशन लॉन्च किया है. नेशनल कमिशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स ने कहा कि ‘साइबर ट्रिविया’ ऐप में कई सवालों का एक सेट होगा और बच्चों को उनके उत्तरों के आधार पर पॉइंट्स मिलेंगे.

खेल-खेल में बच्चे सीखेंगे साइबर सुरक्षा के तरीके

एनसीपीसीआर के एक सदस्य यशवंत जैन ने कहा, ‘इसके जरिए बच्चों को एक मजेदार तरीके से सिखाया जा सकेगा कि यदि इंटरनेट पर कोई अजनबी उनसे दोस्ती करता है, या उनकी तस्वीर मांगता है, या उन्हें काम करने के लिए कहता है तो ऐसी परिस्थिति में क्या करना चाहिए.’ उनके मुताबिक, ‘ब्लू व्हेल’ और ‘मोमो’ जैसी चुनौतियों के कारण बच्चों के आत्महत्या के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए यह गेम बनाया गया है.

जैन ने कहा, ‘बच्चे इन दिनों अपने माता-पिता से भी ज्यादा तेज हो गए हैं. वे साइबर की दुनिया के खतरों को समझ नहीं पाते हैं और उन्हें इसके बारे में सिखाने के लिए ऑनलाइन गेम की मदद ली जा सकती है. यही कारण है कि हमने यह गेम बनाया है.’ ब्लू व्हेल और मोमो चैलेंज भारत के साथ-साथ दुनिया भर में कई बच्चों की आत्महत्या का कारण बना था.

जल्द ही ऐप स्टोर्स पर भी होगा उपलब्ध

सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी के अनुसार, इन खेलों में, निर्माता उन लोगों को तलाशते हैं जो डिप्रेशन में हैं और उन्हें इसमें शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजते हैं. फिर एक अज्ञात ग्रुप एडमिन, चयनित खिलाड़ियों को टास्क देता है जिन्हें एक अवधि के दौरान पूरा करना होता है.

खिलाड़ी गेम शुरू करने के बाद इसे बंद नहीं कर सकते हैं. उनका कहना है कि खिलाड़ी ब्लैकमेल किए जाते हैं और गेम को पूरा करने के लिए उन्हें धमकाया भी जाता है. इस गेम के आखिर में उन्हें आत्महत्या करनी होती है. इन खतरनाक खेलों से निपटने के लिए साइबर ट्रिविया लॉन्च किया गया है. जैन ने कहा, ‘इसे जल्द ही ऐप स्टोर्स पर उपलब्ध कराया जाएगा.’





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: