Kangana Ranaut In Trouble: A Lawyer files complaint against actress against her controversial tweets about the farmers | आंदोलनकारी किसानों की तुलना आतंकियों से कर फंसी एक्ट्रेस, वकील ने लगाया देश की जनता को भड़काने का आरोप


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कर्नाटक के बेलागवी में एक्ट्रेस कंगना रनोट के खिलाफ पुलिस शिकायत दर्ज हुई है। शहर के एडवोकेट हर्षवर्धन पाटिल ने एक्ट्रेस की उस सोशल मीडिया पोस्ट पर आपत्ति जताते हुए शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें उन्होंने आंदोलनकारी किसानों की तुलना आतंकवादियों से की थी। यह शिकायत नगर के तिलकवाड़ी पुलिस स्टेशन में दर्ज हुई है।

वकील का आरोप- कंगना किसानों के खिलाफ जनता को भड़का रहीं

वकील ने आरोप लगाया है कि कंगना रनोट देश की जनता को उन किसानों के खिलाफ भड़का रही हैं, जो वास्तव में किसी वजह से आंदोलन कर रहे हैं। सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाटिल ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने पुलिस से कंगना के खिलाफ सेक्शन 153, 153 (A), 503, 504, 505 (1), 505 (B), 505 (C) और 505 (2) के तहत चार्ज लगाने की अपील की है।

पाटिल ने कहा कि देश में सबको अभिव्यक्ति की आजादी है, लेकिन इसका दुरुपयोग नहीं होना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि कंगना का ट्विटर अकाउंट बैन होना चाहिए। हालांकि, पुलिस ने अभी तक FIR दर्ज नहीं की है। वकील का कहना है कि कि अगर आगे भी पुलिस FIR दर्ज करने से इनकार करती है तो वे अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

आंदोलनकारी किसानों को आतंकी, खालिस्तानी बता चुकीं कंगना

​​​​​​​केंद्र सरकार द्वारा बनाए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले 75 दिन से आंदोलन कर रहे हैं। देशभर के कई किसान संगठन इसमें हिस्सा ले रहे हैं। लेकिन कंगना रनोट अपनी सोशल मीडिया पोस्ट में आंदोलनकारी किसानों के लिए आतंकवादी और खालिस्तानी जैसे शब्दों का इस्तेमाल कर चुकी हैं। इतना ही नहीं, वे यह भी कह चुकी हैं कि इस आंदोलन को चीन और पाकिस्तान से फंडिंग की जा रही है।

पिछले दिनों जब इंटरनेशनल पॉप सिंगर रिहाना ने किसान आंदोलन को समर्थन किया था और पूछा था कि इसके बारे में कोई क्यों बात नहीं करता। तब कंगना ने उन्हें जवाब देते हुए लिखा था, “कोई इस बारे में बात नहीं कर रहा, क्योंकि वे किसान नहीं, आतंकवादी हैं, जो देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं। ताकि चीन इसका फायदा उठाकर अपना अधिकार जमा ले, जैसा उसने अमेरिका में किया। आप बेवकूफ हैं, इसलिए चुप बैठिए। हम आपकी तरह अपने देश को नहीं बेच रहे।”

4 महीने पहले भी कर्नाटक में कंगना के खिलाफ केस दर्ज हुआ था

कंगना रनोट के खिलाफ 4 महीने पहले भी कर्नाटक में एक केस दर्ज हुआ था। तब भी कंगना पर किसानों को आतंकवादी कहकर उनका अपमान करने का आरोप लगा था। दरअसल, कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को लेकर कंगना ने अपनी सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा था, “प्रधानमंत्रीजी, जो कोई सो रहा हो, उसे जगाया जा सकता है। जिसे गलतफहमी है, उसे समझाया जा सकता है। मगर जो सोने की एक्टिंग करे, नासमझने की एक्टिंग करे, उसे आपके समझाने से क्या फर्क पड़ेगा। ये वही आतंकी हैं। CAA से एक भी इंसान की सिटीजनशिप नहीं गई, मगर इन्होंने खून की नदियां बहा दीं।”

उनकी पोस्ट के बाद कर्नाटक के तुमकुर के वकील रमेश नायक ने जिले के क्याथासंदरा थाने में कंगना के खिलाफ शिकायत की थी। उन्होंने एक्ट्रेस के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 153 A (धर्म, भाषा, नस्ल के आधार पर नफरत फैलाना), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना) ,108 (अपराध को शह देना) के तहत एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की मांग की थी। सुनवाई के बाद एक जुडीशियल मजिस्ट्रेट फर्स्ट क्लास कोर्ट ने एक्ट्रेस के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच के निर्देश दिए थे।



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: